Spread the love

*विनोद पांडे ने किया लूट की घटना का खुलासा*

*धर्म के ठेकेदारों ने लूटा सात करोड़ का संपत्ति*

*चर्च सेक्रेटरी ने कहा नहीं छोड़ेंगे गुनहगारों को*

धार्मिक ठेकेदार हुए बेधर्मी, अपने ही धर्म संस्थान को बाहरी अतिक्रमणकारियों के साथ मिलकर लूटा, यह मामला है मैथों डिस्ट चर्च आरा के अंतर्गत आने वाले कन्या साउटल मेमोरियल विद्यालय की, कन्या साउटल मेमोरियल विद्यालय मैथों डिस्ट ट्रस्ट एसोसिएशन द्वारा चलाया जाता रहा है। इस ट्रस्ट का एक बायलॉज है। जिसके गाइड लाइन के अंतर्गत संचालित होता है। इस ट्रस्ट के अंतर्गत कई प्रॉपर्टी शामिल है। इस लिए संस्था द्वारा एक सुपरवाइजर नियुक्त है। जिसे डीएस के नाम से पॉपुलैरिटी मिली है उनका नाम अल्फ्रेड एंड्रयूज है, एवं इस विद्यालय के मैनेजर के रूप में कार्यरत एक महिला है। जिसको जेबी लाल से पॉपुलैरिटी मिली है। पूरा नाम ज्योत्सना वर्षा लाल है।


यह दोनों धार्मिक संतो ने बाहरी विभिन्न गणमान्य के साथ मिलकर करीब 7 करोड़ की संपति दिनांक 22/ 6 /20 को बेच डाली है। मजे की बात तो यह है। की यह दोनों संत पहले से जेल की हवा खा चुके हैं। कहते हैं की कानून तो मेरे पीछे वाले पॉकेट में रहता है। और सच भी है क्यों की इस संपत्ति को बेचने में पूरा रजिस्ट्री परिवार तन मन से लगा था परिवार के मुखिया रजिस्टार श्री अरविंद यादव जी कहते है की मेरा काम केवल रिवेन्यू देखना है। यदी रेवेन्यू पूरा मिले तो मैं कुछ भी रजिस्ट्री कर दूंगा। इस घटना को उजागर करने वाले श्री विनोद पांडे ने बताया की मैं संस्था के सेक्रेटरी से दूरभाष पर बात की तथा संस्था के गणमान्य अधिकारियों को वकालत अन नोटिस के जरिए आग्रह किया है। की धार्मिक संस्था की प्रॉपर्टी बिना संगठन के सहमति के बगैर बेचना गैर कानूनी है। इसे रोकने के लिए संस्था जल्द से जल्द कोई ठोस कदम उठाएं।

चर्च सेक्रेटरी ने कहा नहीं छोड़ेंगे गुनहगारों को
…………………………
आज दूरभाष पर मेथाडिस्ट चर्च के जनरल सेक्रेटरी न्यूटन परमार ने बताया कि हमारे समुदाय में धार्मिक संस्थाओं को बचाने का संकल्प लिया जाता है ।और हमारे रक्षक ही भक्षक वन गए। सेक्रेटरी ने इस घटना को उजागर करने वाले विनोद पांडे को धन्यवाद दिया और आश्वासन दिया की इस घटना में लिप्त सभी लोगों को कानूनी दंड दिलवा कर रहूंगा ।उन्होंने बताया की भोजपुर प्रशासन से उनकी बात हो गई है। कुछ आवश्यक पेपर भेजना है ।मैं तुरंत आवश्यक पेपर भोजपुर प्रशासन को उपलब्ध करा दूंगा ।उन्होंने बताया कि हमारी संस्था एक गाइड लाइन से चलती है इसमें संशोधन करने के लिए जुडिशल काउंसिल की बैठक होती है ।उसमें हम लोग नियमों में संशोधन का प्रस्ताव लाते हैं ।अभी कई समय से यह बैठक पूर्णा नहीं हुआ है ।चुकी यह प्रॉपर्टी एलआरसी के अंतर्गत आता है। इसलिए मैं एलआरसी को सूचित कर विभागीय करवाई का अनुशंसा करूंगा ।अंत में बताया की भोजपुर प्रशासन से दंडात्मक करवाई करवा लूंगा किसी को नहीं बख्शा जाएगा।

42

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *